मुख़्यमंत्री योगी जी,आपकी सरकार में भारत माता के 9 दलित नवजवान अचानक तड़प तड़प कर मर गए?

परिजनों  ने कहा ग़ुरबत से ठंडक में,और किसी ने कहा ज़हरीली शराब पीने से हुई मौत

आबकारी विभाग करता रहा लीपापोती,पोस्टमॉर्टम के बग़ैर जलवा दी गयी एक लाश 

SDM  की सख्ती से 8 लाशो का हुआ पोस्टमॉर्टम 

बाराबंकी। 9 दलित समाज के नौजवानो की कोतवाली देवा और रामनगर अन्तर्गत आज सुबह  जहरीली शराब पीने या ग़ुरबत में ठंडक के कारण मौत हो गयी है। कुछ लोगों ने गांव में ही दम तोड़ा तो कुछ इलाज के लिये लाये गये जहां पर उनकी मौत हो गयी। जबकि 3 व्यक्तियों की मौत लखनऊ ट्रामा सेन्टर ले जाते समय हो गयी। अवैध शराब बिकवाने में माहिर जिला आबकारी अधिकारी ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया है। SDM  सुशील कुमार  ने कड़ा रवैय्या अख्तियार करते  हुए जलने से बची लाशों का पोस्टमॉर्टम करवाने के आदेश देकर हड़कंप मचा दिया हैं.लीपापोती में  लगे कुछ अधिकारिओ के होश उड़ गए हैं।वही Cm योगी ने भी पुरे मामले  को गंभीरता से  लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं। 
जानकारी के अनुसार, कोतवाली देवा क्षेत्र के ग्राम सलारपुर में आज सुबह मौत का ताण्डव शुरु हुआ। सुबह करीब 5  बजे गांव के ही तीस वर्षीय युवक सत्यनाम गौतम पुत्र मेड़ीलाल की अचानक मौत हो गयी। इस मौत के बाद गांव में दहशत  व्याप्त हो गया । इसके बाद पड़ोस के गांव मुनियापुर निवासी 26 वर्षीय कमलेश की मौत हुई। जबकि करीब सुबह 10 बजे इसी थाना क्षेत्र के ग्राम देवगांव निवासी नौमीलाल पुत्र गंगाराम की अचानक मौत हो गयी। धीरे धीरे जब मौतों का सिलसिला शुरु हुआ तो गम्भीर अवस्था में इसी थाना क्षेत्र के ग्राम रीवा रतनपुर निवासी उमेश कुमार पुत्र हरख और ग्राम जसनवारा निवासी अनिल कुमार पुत्र माता प्रसाद को गम्भीर अवस्था में जिला अस्पताल लाया गया। यहाँ  डाक्टरों ने दोनो को लखनऊ ट्रामा सेन्टर रिफर किया। लेकिन बीच रास्ते में ही दोनो की दर्दनाक मौत हो गयी। ग्राम विंडौरा निवासी माता प्रसाद की भी  मौत हो गयी। रामनगर के तालपुऱ के अवनीश और काशी की भी स्प्रिट पीने से मौत की खबर हैं,
मौत का सिलसिला सुबह 5  बजे से शुरु हुआ जो शाम 5  बजे तक चलता रहा। लगातार हो रही मौतों की खबर जब जिला प्रशासन को हुई तो जिला प्रशासन हरकत में आया और गांवो में आलाधिकारियों के पहुंचने का सिलसिला जारी हुआ। 
इस बात की भनक मुख्यमंत्री कार्यालय को हुई तो वहा के आदेश पर  जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने  उपजिलाधिकारी नवाबगंज सुशील कुमार को मौके पर भेज करके मौत का कारण जानना चाहा और उन्होने सभी मृतकों का पंचनामा भरवा करके लाशो  को पोस्टमार्टम के लिये भिजवाया। 
उपजिलाधिकारी नवाबगंज ठण्ड से मौत की बात से इंकार कर रहे हैं। उनका कहना था कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सारी हकीकत सामने आयेगी। एक साथ नौ  मौतों पर पूरा जिला प्रशासन हरकत में आ गया है और सभी विभागों के आलाधिकारी अपने अपने बचाव में जुट गये हैं।
जब इस सम्बन्ध में जिला आबकारी अधिकारी से जानकारी की गयी तो उनका कहना था कि शराब पीने से इन लोगों की मौत नही हुई है। 
 कोतवाली देवा क्षेत्र के ग्राम सलारपुर, जसनवारा, रीवां रतनपुर,मुनियापूर्वा,देवगाँव,ढ़िंढोरा   में जब पहुंच करके पत्रकारों ने मृतक के मौतों के बारे में जानकारी की गयी तो अधिकांश परिजन यह कहते नजर आये कि हम लोग गरीब हैं और अत्यधिक ठण्ड के कारण हम लोगों के घर के सदस्य मौत के गाल में समा गये। वहीं जिला अस्पताल में जब सुबह 10 बजे ग्राम रीवां रतनपुर निवासी उमेश पुत्र हरख और अनिल पुत्र माता प्रसाद इलाज के लिये लाये गये थे तो डाक्टरों ने स्प्रिट सेवन की बात स्वीकार की थी। 
अभी तक पुलिस और आबकारी विभाग ज़हरीली शराब बेचने वाले को गिरफ्तार नहीं कर सका हैं।कोतवाल देवा ने भी शराब बिक्री से इंकार किया हैं। 
 ग़ुरबत और ठंडक में नौजवानो की मौत का सदमा आने वाले दिनों में माँ पत्नी परिजन कैसे बर्दाश्त करेंगे और मुख़्यमंत्री योगी लापरवाह और रिश्वत खोर अधिकारिओ के ख़िलाफ़ क्या कारवाई करेंगे ,मरने वाले के आश्रितो क्या मुआवज़ा मिलेगा  ये आने वाला वक़्त बताएंगा। 
News Posted on: 10-01-2018
वीडियो न्यूज़