पूर्व विधायक अब्बास अली ज़ैदी रुश्दी मिया ने शिया वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी के खिलाफ खोला मोर्चा,कहा तौबा करे।

मौलाना इंक़लाबी ने कहा महंत,दबंग,ईमानदार CM योगी क्यों वक़्फ़ खोर वसीम पर है मेहरबान?

लखनऊ-दीनी तालीम इंसान को बेहतर इंसान के साथ साथ तालीमयाफ़्ता , तहज़ीबयाफ्ता और मुल्क परस्त बनाती है और इसका श्रेय हमारी  दीनी दरसगाहों / मदरसों को जाता है ......तारीख़  हिन्द से जो वाक़िफ़ हैं वह अच्छी तरह जानते हैं की आज मुल्क आज़ाद है तो उसके पीछे मदारिस और हमारे उलेमा ए कराम की क़ुर्बानियां सफ़ ए अव्वल पर रक़म हैं ........
दीनी तालीम की यह दरसगाहें / मदरसे जब तक कायम हैं हमारा देश भारत हमेशा मज़बूत और मुत्तहिद रहेगा ......हमने सब्र का , हुब्बुल वतनी का और भाईचारे का दर्स यही से हासिल किया है ...........जो इससे सहमत न हो वह तारीख़ पढ़ें और तौबा भी करें .....ये बयान रुदौली के पूर्व विधायक और शिया वक्फबोर्ड के सदस्य रहे अब्बास अली ज़ैदी ने शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी के बयान आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे है मदरसे के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए दिया हैं।
फेस बुक पर अब्बास अली ज़ैदी की वाल पर इस बयान के आने के बाद उनके फालोवर ने जमकर समर्थन कर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।
मालूम हो शिया सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड को लूटने वाला वक़्फ़खोर चेयरमैन वसीम रिज़वी सरकार और जांच एजेंसियो की नज़र अपनी तरफ से हटा कर उल्टे सीधे बयान देकर गुमराह कर रहा हैं।वही दूसरी तरफ वक़्फ़ बोर्ड के सूत्री के मुताबिक वहा कई महीनों से कर्मचारियो को तनख्वाह नही मिली है,वक़्फो की फाइलों को जलाकर और वक़्फो को डिलीट कर बड़ी रकम वसूलने का धंधा चल रहा है।
शियाने हैदरे कर्रार ऑर्गेनाइज़ेशन के मौलाना इफ्तेखार हुसैन इंक़लाबी ने मुख्यमंत्री योगी से मांग करते हुए कहा है कि आप संत भी है और दबंग भी फिर इस वक़्फ़ खोर और उमराव जान के सप्लायर वसीम रिज़वी से क्यों घबराये हुए।अरबो का घोटाला करने वाले पर क्यों ख़ामोशी हैं।ये आपकी बुलंदियो के लिए रुकावट हैं ।अभी आप को बहूत तरक्की करनी है अपने इंसाफ से अवाम का दिल जीतकर न कि वक़्फ़खोरो की हौसला अफजाई कर समाज मे नफरत फैलाने वाले का साथ देकर।
मौलाना इंक़लाबी ने पूर्व विधायक अब्बास अली ज़ैदी के बयान का स्वागत करते हुए कहा कि हक़ बोलने वाला हमेशा तरक्की करता हैं। हमे अच्छा लगा कि कोई तो मैदान में सामने आया।
वही आज़म खान के बारे में कहा कि ईमानदारी के लिबास में बेईमानी करने वाले मुसलमानों के रहनुमा की अब  ज़बान क्यों बंद हैं।अपने चेले वसीम रिज़वी पर क्यों मेहरबान हैं।

News Posted on: 10-01-2018
वीडियो न्यूज़