योगी सरकार के खिलाफ किसानों का नई स्टाइल में प्रदर्शन,विधानसभा,CM आवास के सामने सड़े आलू फेंका,मचा हड़कंप

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा के सामने आज तड़के आलू फेंककर किसानों ने अपना विरोध दर्ज कराया। कड़ाके की ठंड के बावजूद किसानों ने तड़के करीब चार बजे विधानभवन के सामने, हजरतगंज, राजभवन के सामने और कुछ अन्य मार्गों पर आलू फेंककर सरकार की नीतियों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया. दरअसल,किसानों को मंडी में आलू का 4 रुपए का रेट मिल रहा है, जबकि ये लोग 10 रुपए प्रति किलो के हिसाब से आलू के रेट की मांग कर रहे हैं। सुबह के वक्त सड़कों पर आलू मिलने के बाद से हड़कंप मच गया है। जिम्मेदारों को नहीं है पता रात में गश्त करने का दावा करने वाली पुलिस और LIU का नेटवर्क भी रात में सोता रहा। जिला प्रशासन को भी किसानो के आलू फेंकने की जानकारी नहीं हो पाई। साफ कराए गए आलू सीएम आवास,राजभवन और विधानसभा के बाहर की सड़कों पर आलू मिलने के बाद हड़कंप मच गया। जिला प्रशासन और नगर निगम के अफसर अपनी इज्जत बचाने के लिए आलू उठवा रहे है। सड़को गए काफी मात्रा में आलू वाहनों के टायरों से दबकर खराब हो गए। किसानों का कहना है कि आलू का लागत मूल्य ही नहीं निकल पा रहा है, ऐसे में किसानों के सामने बड़ी समस्या उठ खड़ी हुई है। किसान नेता राजेन्द्र सिंह का कहना है कि कोल्ड स्टोरेज का किराया 220 रुपये प्रति कुंतल है और बाजार में किसान को 150 से 200 रुपये प्रति कुंतल आलू बेचना पड़ रहा है। ऐसे में किसान के सामने आलू फेंकने के अलावा कोई और रास्ता नहीं है।

News Posted on: 06-01-2018
वीडियो न्यूज़