नासा का बड़ा कारनामा, वैज्ञानिकों ने की सबसे अधिक दूरी पर स्थित ब्लैक होल की खोज

वाशिंगटन: नासा ने अंतरिक्ष की दुनिया में एक और नया कीर्तिमान स्थापित कर लिया है. नासा के वैज्ञानिकों ने सबसे अधिक दूरी पर स्थित एक विशालकाय ब्लैक होल का पता लगाया है जो सूर्य के द्रव्यमान से 80 करोड़ गुणा बड़ा है. इस खगोलीय विवर में जो भी वस्तु जाती है वह वापस नहीं लौटती.
खगोलविदों ने सबसे दूरी पर स्थित पिण्डों का अध्ययन करने के लिए नासा की वाइड फील्ज इंफ्रारेड सर्वे एक्सप्लोरर (वाइज) से प्राप्त डेटा को जमीन पर हुए सर्वेक्षणों से जोड़कर देखा और फिर चिली की कार्नेज ऑब्जर्वेट्री की मेगैलन टेलिस्कोप्स के जरिए इसका पता लगाने का प्रयास किया.
 Scientists recently identified the farthest super-massive black hole ever discovered. It’s voraciously devouring material at the center of its galaxy -- a phenomenon called a quasar whose light took 13 billion years to reach Earth! Get the details: https://t.co/kkcvbdvjGXpic.twitter.com/YdpNhZGrdl
— NASA (@NASA) December 6, 2017
अनुसंधानकर्ताओं ने मेगैलन के जरिए देखे जाने के लिए वाइज द्वारा खोजे गए करोड़ों पिण्डों में से कुछ की पहचान की. अमेरिका में नासा की जेट प्रोपल्शन लैबोरेट्री के डेनियल स्टर्न ने कहा, 'हमारी उम्मीद के उलट यह ब्लैक होल महाविस्फोट (बिग बैंग) के केवल 69 करोड़ साल के बाद ही कहीं ज्यादा दूरी पर चला गया है जो ब्लैक होल बनने की प्रक्रिया के हमारे सिद्धांतों को चुनौती देता है.'

News Posted on: 07-12-2017
वीडियो न्यूज़