बाज़ जैसी तेज नज़र के लिए आज से शुरू करें अमरूद का सेवन

अमरूद में बहुत से पोषक तत्वों पाएं जाते है. साथ ही अमरुद शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाता है. अमरुद में विटामिन सी, विटामिन बी 3 और विटामिन बी 6, लाइकोपिन और एंटी-ऑक्सीडेंट्स की भरपूर मात्रा पाई जाती है. जो हमारे सेहत के लिए बेहत ही फायदेमंद है.
साथ ही अमरूद में मैंगनीज पाया जाता है जो अन्य खाद्यों में पाए जाने वाले पोषक तत्वों को अवशोषित करने में सहायक है. इसमें प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाला तत्व फोलेट भी पाया जाता है. अमरूद में पोटैशियम भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखता है.
अमरूद में विटामिन ए आंखों की रोशनी के उपचार के लिए फायदेमंद है. साथ ही अमरूद डायबिटीज के मरीजों के लिए भी फायदेमंद होता है. अमरूद में फाइबर भरपूर मात्रा में शरीर में शुगर को नियंत्रित करने में मदद करता है.
अमरूद कैंसर फैलाने वाली सेल्स को शरीर में बढ़ने से रोकता है. इसमें मौजूद लाइकोपिन, क्वर्सेटिन, विटामिन सी और अन्य पालीफेनॉल्स एंटी ऑक्सीडेंट्स के बतौर काम करते हैं जो कैंसर के कारणों की रोकथाम के लिए जरूरी हैं.
अमरूद का सेवन दिमाग में रक्त संचार को दुरूस्त करता है. यह दिमाग की नसों को आराम देते हैं तथा दिमाग की क्षमता में वृद्धि करने का काम करते हैं.
अमरूद की पत्‍तियों के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं जिसके बारे में हमें पता ही नहीं है। यह आपकी कई बीमारियों में आराम पहुंचा सकती है। वजन घटाना हो, गठिया के दर्द ने परेशान कर रखा हो या फिर पेट ठीक ना रहता हो, तो आप अमरूद की पत्‍तियों के रस का प्रयोग कर सकते हैं।
● इसमें ऐसे चमत्‍कारी गुण हैं जो आपकी कई बीमारियों को एक पल में दूर कर सकती हैं। त्‍वचा, बाल और स्‍वास्‍थ्‍य की देखभाल के लिये अमरूद की ताजी पत्‍तियों का रस या फिर इसकी बनी हुई चाय बहुत ही फायदेमंद होती है।
● वजन घटाना हो, गठिया के दर्द ने परेशान कर रखा हो या फिर पेट ठीक ना रहता हो, तो आप अमरूद की पत्‍तियों के रस का प्रयोग कर सकते हैं। आइये जानते हैं अमरूद की पत्‍तियां किस बीमारी में लाभ पहुंचाती हैं...
1) वजन घटाए 
अमरूद की पत्तियां जटिल स्टार्च को शुगर में बदलने की प्रक्रिया को रोकता है जिसके द्वारा शरीर के वज़न को घटाने में सहायता मिलती है।
2) गठिया दर्द 
अमरूद के पत्तों को कूटकर, लुगदी बनाकर उसे गर्म करके लगाने से गठिया की सूजन दूर हो जाती hai.
3) स्वप्नदोष में लाभ
अमरूद के पत्तों को पीसकर उसका रस निकालकर उसमें स्वादानुसार चीनी मिलाकर नित्य पीते रहने से स्वप्नदोष की बीमारी में लाभ होता hai.
4) ल्यूकोरिया में लाभ
अमरूद की ताजी पत्तियों का रस १० से २० मिलीलीटर तक नित्य सुबह-शाम पीने से ल्यूकोरिया नामक बीमारी में अप्रत्याशित लाभ पहुंचाता है।
5) कोलेस्‍ट्रॉल कम करे
अमरूद की पत्‍तियों का जूस लिवर से गंदगी निकालने में मदद करता है। यह खराब कोलेस्‍ट्रॉल को कम करता है।
6) डायरिया मिटाए
यह पेट की कई बीमारियों को ठीक करने में असरदार है। एक कप खौलते हुए पानी में अमरूद की पत्‍तियों को डाल कर उबालिये और फिर उसका पानी छान कर पी लीजिये।
7) पाचन तंत्र ठीक करे 
अमरूद की पत्‍तियां या फिर उससे तैयार जूस पी कर आप पाचन तंत्र को ठीक कर सकते हैं। इससे फूड प्‍वाइजनिंग में भी काफी राहत मिलती है।
8) दांतों की समस्‍या के लिये
दांतदर्द, गले में दर्द, मसूड़ों की बीमारी आदि अमरूद की पत्‍तियों के रस से दूर हो जाती है। आप पत्‍तियों को पीस कर पेस्‍ट बना कर उसे मसूड़ों या दांत पर रख सकती हैं।
9) डेंगू बुखार 
डेंगू बुखार में अमरूद की पत्‍तियों का रस पियें। यह बुखार को संक्रमण को दूर करता है।
10) एलर्जी दूर करे 
अमरूद की पत्‍तियों का रस किसी भी प्रकार की एलर्जी को दूर कर सकता है। यह उस वायरस को खतम करता है जिससे एलर्जी पैदा होती है।
11) सिर में दर्द 
आधे सिर में दर्द होने पर सूर्योदय के पूर्व ही कच्चे हरे ताजे अमरूद लेकर पत्थर पर घिसकर लेप बनाएं और माथे पर लगाएं। कुछ दिनों तक नित्य प्रयोग करने से पूर्ण लाभ होता है।
12) मुंह के छाले 
अमरूद के पत्तों पर कत्था लगाकर चबाएं। केवल अमरूद के पत्ते चबाने से भी छाले ठीक हो जाते हैं।
13) मुंहासे मिटाए
यह एक एंटीसेप्‍टिक पत्‍तियां होती हैं जो कि बैक्‍टीरिया को मार सकती हैं। इसके लिये ताजी पत्‍तियों को पीस कर दाग धब्‍बों के साथ मुंहासो पर लगाएं। ऐसा रोजान करना उचित रहेगा।
 
14) बालों की ग्रोथ बढाए 
इन पत्‍तियों में बहुत सारा पोषण और एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो कि बालों की ग्रोथ को बढ़ाता है।
15) मधुमेह रोगियों के लिये अच्छा 
एक शोध के अनुसार अमरूद की पत्तियां एल्फा-ग्लूकोसाइडिस एंज़ाइम की क्रिया द्वारा रक्त शर्करा को कम करती है। दूसरी तरफ सुक्रोज़ और लैक्टोज़ को सोखने से शरीर को रोकती है जिससे शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है।
16) खुजलाहट 
अमरूद की पत्तियों में एलर्जी अवरोधक गुण पाया जाता है। एलर्जी बहुत सारे अन्य खुजलाहट का मुख्य कारण है। अत: एलर्जी को कम करने से खुजलाहट अपने आप कम हो जायेगी। 

News Posted on: 04-12-2017
वीडियो न्यूज़