नाम वापसी कराने गये भाजपा नेताओं को राजू भैया ने किया वापस

संगीता हटी, नीलम डटी, भाजपा का चुनावी रथ खा रहा हिचकोले
बाराबंकी। भाजपा से बागी होकर हैदरगढ़ नगर पंचायत के अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ रही श्रीमती नीलम द्विवेदी की नाम वापसी का सपना लेकर पहुंचे विधायक व जिलाध्यक्ष सहित कई वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने सामाजिक कार्यकर्ता कृष्ण कुमार द्विवेदी ने वापस कर दिया। यहां भाजपाई सुनते रहे और भैया सुनाते रहे। हां यह जरूर रहा कि संगीता साहू भाजपा के पक्ष में पर्चा वापसी कर ली। 
    श्रीमती नीलम द्विवेदी के नामांकन के बाद वरिष्ठ भाजपाइयों की नींदे हराम हो गई थीं। दरअसल राजू भैया के नेतृत्व में नीलम के नामांकन में हर वर्ग एवं हर धर्म के लोगों की एकजुटता ने कइयों के कान खड़े कर दिये थे। इस मौके बेमौके इन अफवाहों का भी जाल बुना जाता रहा कि राजू भैया चुनाव में बैठ जायेंगे उनकी पत्नी नीलम द्विवेदी चुनाव भी नहीं लड़ेंगी। लेकिन नामांकन के बाद श्री भैया के इरादे पक्के हो चले थे। जाहिर था कि आज भाजपा नेताओं को बैरंग वापस करके राजू भैया दम्पत्ति ने यह बता दिया है कि अब फैसला हैदरगढ़ की जनता की अदालत में है। हैदरगढ़ नगर पंचायत मंे प्रमुख स्थानीय नेताआंे के बगावती अंदाज से भाजपा की चूल्हे हिल गई हैं। यहां पर पार्टी ने पूर्व विधायक सुंदरलाल दीक्षित की पुत्रवधू पूजा दीक्षित को पत्नी पंकज दीक्षित को प्रत्याशी घोषित किया है। जिसके उपरान्त यहां भगवा परिवार में तलवारे दर तलवारे खिचती चली गईं। सामाजिक सरोकारों से जुड़े कृष्ण कुमार द्विवेदी राजू भैया ने तो बगावत कर ही दी जबकि इसके विरोध में श्रीमती मीना देवी एवं जया अग्रवाल ने भी बगावत का झंडा उठा लिया। इस स्थिति से निपटने के लिए प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर आज भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव, भाजपा विधायक बैजनाथ रावत, कौशलेन्द्र शुक्ला, महामंत्री हर्षित वर्मा, जिला उपाध्यक्ष उमाशंकर मिश्रा सहित अन्य कई वरिष्ठ भाजपा नेता ननकऊ साहू मिले। पता चला है कि श्री साहू ने भाजपा नेताआंे से विचार विमर्श के बाद अपनी बहू संगीता साहू का पर्चा भाजपा के पक्ष में वापस करवा दिया। इसके बाद पार्टी नेताओं ने अपना भागीरथ प्रयास बागी के रूप में चुनाव लड़ रही श्रीमती नीलम द्विवेदी पर जारी किया। भाजपा जिलाध्यक्ष एवं विधायक नेताओं सहित श्रीमती द्विवेदी के पति सामाजिक कार्यकर्ता कृष्ण कुमार द्विवेदी राजू भैया से उनके घर जाकर मिले। जनसम्पर्क पर निकले श्री भैया कुछ देर बाद भाजपा नेताओं से रूबरू हुए। बातचीत का दौर शुरू हुआ तो राजू भैया ने साफ कहा कि नाम वापसी दस साल तक हो चुकी अब चुनाव लड़ना है और नीलम द्विवेदी को जीतना भी है क्योंकि यही हैदरगढ़ की जनता का सम्मान होगा एवं समर्पित कार्यकर्ताओं के अपमान का कुछ नेताओं के द्वारा लिया जाने वाला बदला भी होगा। सूत्र बताते हैं कि इस दौरान राजू भैया खूब गरजे। काफी कोशिश के बाद यहां भाजपाई अपने पुराने साथी को मनाने में विफल हो गये। पता चला है कि राजू भैया ने कहा कि कि अब हमारा लक्ष्य है हैदरगढ़ जनता पार्टी की प्रत्याशी नीलम द्विवेदी को जितवाना और दल को जेब में रखने वाले नेताओं को सबक सिखाना। उधर जानकारी मिली है कि अन्य बागी भाजपा प्रत्याशियों ने भी चुनाव मैदान में कदम अड़ा रखे हैं।

News Posted on: 13-11-2017
वीडियो न्यूज़