सुप्रीम कोर्ट का कनफ्यूजिंग फैसला,उठे सवाल,जदीद मरकज़ के एडिटर हिसाम सिद्दीक़ी के तहलका से हड़कंप

 

*“दूसरे खलीफा हजरत उमर ने सिर्फ एक मामले में एक साथ तीन तलाक को मंजूरी दी थी तो तलाक देने वाले को पचास कोड़े मारने की सजा भी सुनाई थी। मतलब यह कि इसे उन्होंने काबिले सजा जुर्म तस्लीम किया था। अब सुप्रीम कोर्ट ने एक साथ तीन तलाक को गैर कानूनी (अवैध) तो करार दे दिया लेकिन इस तरह तलाक-ए-बिदअत देने वाले के लिए कोई सजा तय नहीं की फिर इसे गैर कान

News Posted on: 25-08-2017
वीडियो न्यूज़