सुन्नी भाई शीओ की आत्मा हैं,किसी भी शिया को परमिशन नहीं हैं की वो सुन्निओं बुरा कहे -डॉ कल्बे सादिक

 

इल्म का दिया जलाओ ,बेटिओ को पढ़ाओ ,दुनिया की  हिफाज़त करो-मौलाना रज़ा हैदर

लड़किओं को तालीम देकर सिर्फ फैमिली ही नहीं पूरा मुल्क और और जनरेशन फ़ैज़याब होती हैं-मौलाना तक़ी हैदर 

बाराबंकी। अपने लिए जीने वाले धार्मिक नहीं होते  दूसरो के लिए जीते हैं वो धार्मिक होते ,सुन्नी भाई शीओ की आत्मा हैं,किसी भी शिया  को परमिशन नहीं हैं की वो सुन्निओं  बुरा कहे  उक्त बात मलिका महिला डिग्री कालेज असन्द्रा बाजार में प्रतिभा सम्मान समारोह में  शिया धर्म गुरू व मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के उपाध्यक्ष डा0 कल्बे सादिक ने कही।
डॉ सादिक ने आगे कहा कि समाज में शिक्षित होना हर इंसान को बहुत जरूरी है। विशेष तौर पर अगर घर की महिलायें और बालिकायें शिक्षित हैं तो वे पूरे घर सहित आस-पड़ोस के लोगों को भी शिक्षित बनाने में ही विशेष भूमिका रहती है।आज की बेटिया कल माएं बनेगी।हम चाहते हैं सच्चे हिन्दू और सच्चे मुसलमान बने। धर्म का मक़सद अच्छा इंसान बनना और बनाना यही सब धर्म कहते हैं। 
मौलाना ने कहा जितना शिक्षा पर हिन्दू भाई काम कर रहे हैं मुसलमान सोच भी नहीं सकते। हम इस देश के भक्त हैं इसकी भलाई चाहते हैं। हमने  नेताओ  के सहारे स्कूल नहीं खोले बल्कि परमात्मा के सहारे इस शिक्षा  मिशन  आगे बढ़ाया। अशिक्छित क़ौम को इज़्ज़त नहीं ज़िल्लत मिलती हैं। पहले स्कूल बनाये फिर इमामबाड़े बनाए। 
दिल्ली से आये मौलाना तक़ी हैदर साहब ने कहा लड़किओं को तालीम देकर सिर्फ फैमिली ही नहीं पूरा मुल्क और और जनरेशन फ़ैज़याब होती हैं। इंसान को ऊपर उड़ने के लिए दो परो की ज़रूरत हैं एक संस्कार और दूसरा तालीम ,मज़हब नफरत नहीं सिखाता ,मज़हब प्यार भाई चारा एक दूसरे की मदद करना सिखाता हैं। 
ईरान से आये असंद्रा निवासी मौलाना रज़ा हैदर साहब क़िब्ला ने कहा इल्म का दिया जलाओ ,बेटिओ को पढ़ाओ ,दुनिया की  हिफाज़त करो। 
 आज जैसे ही शिया धर्म गुरू डा0 कल्बे सादिक सुबह 11 बजे मलका महिला डिग्री कालेज पहुंचे तो महाविद्यालय के प्रबंधक मो0 कफील जैदी और उनके अन्य सहयोगी शिक्षिकों ने श्री सादिक का जोरदार स्वागत किया। स्वागत के बाद उन्होंने विद्यालय में बीए फाइनल में सर्वोच्च स्थान पाने वाली छात्रायें खुशबू वर्मा, यासमीन बानो, पूजा देवी, रोली देवी, रेहाना फातिमा और रोशनी मौर्या को गोल्ड मेडल व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सम्मान समारोह के उपरान्त धर्म गुरू डा कल्बे सादिक ने विद्यालय के पास अंग्रेजी माध्यम इण्टर कालेज की आधारशिला भी रखी। इस कार्यक्रम मंे मुख्य रूप से मौलाना रजा हैदर, आरबी सिंह, ज्वाला बक्श सिंह, विष्णु कुमार सिंह, डा छोटे मियां, नवीन जैदी व महाविद्यालय के प्राचार्य डा रविशंकर शुक्ला आदि लोग मौजूद थे। गौरतलब हो कि पिछले वर्ष की तरह इस बार भी महाविद्यालय का परीक्षा फल शत-प्रतिशत रहा। 

 

 

News Posted on: 13-07-2017
वीडियो न्यूज़