वाह रे कश्मीरी लानत पीटे मुसलमान शबे क़द्र २७ रमजान को मस्जिद के बाहर मुस्लिम DSP को पीट-पीटकर मार डाला,मोदी और उनकी महबूबा तुम यज़ीदी मुसलमानो माफ़ कर दे,लेकिन अल्लाह नहीं माफ़  करेगा क़ातिलों तुमको.......


E-Paper

CM योगी के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह का RES के कामो का मुआइना,कई पायी कमिया

1 AE  और 5 JE  सस्पेंड करने के लिए दिया आरोप पत्र

कर्बला सिविल लाइन्स में इंटरलॉकिंग रोड का  किया मुआइना ,ख़राब रोड को  सुबह 10 बजे तक सही करने के दिए निर्देश 

बाराबंकी -ग्रामीण अभियत्रंण विभाग उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह ने जनपद बाराबंकी में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित 03 सड़को का मुआयना किया। सिद्धौर देवीगंज सुबेहा मार्ग के निरीक्षण के दौरान प्रकाश में आयी गुणवत्ता सम्बन्धी कमियां को लेकर उन्होने कड़ा असन्तोष जाहिर करते हुए 01 सहायक अभियन्ता और 05 अवर अभियन्ता को निलम्बन की कार्यवाही हेतु आरोप पत्र देने का निर्देश दिया। इस मामले में अधिशासी अभियन्ता एसपी राम को चेतावनी दी गयी। निरीक्षण के दौरान बाकी 02 सड़कों में गुणवत्ता सम्बन्धी स्थिति सन्तोषजनक पायी गयी। मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह ने विभाग के अभियन्ताओं को निर्देश दिया कि सड़क निर्माण में गुणवत्ता और समयबद्धता का पूरा ध्यान रखा जाये। गुणवत्ता में कमी पाये जाने पर उत्तरदायी अधिकारी को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होने कहा कि सड़क निर्माण हेतु निर्धारित समय में कार्य पूरा करने पर विशेष ध्यान दिया जाये। 
कैबिनेट मंत्री ने बाराबंकी शहर में कर्बला सिविल लाइन्स के अन्दर ग्रामीण अभियत्रंण विभाग द्वारा लगायी गयी इंटरलाकिंग कार्य का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान एक-दो स्थानों पर प्रकाश में आयी कमियों को एक दिन में दूर करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा ये सार्वजानिक स्थल हैं कुदरत के नाम से कोई चीज़ हैं उसमे कोई कमी न हो  कमिया हैं वो १० बजे तक सही करवा दे। 
राजेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह ने बाराबंकी शहर स्थित पीडब्लूडी के निरीक्षण भवन में मुख्य विकास अधिकारी ऋषिरेन्द्र कुमार और अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार सिंह, उपजिलाधिकारी सदर सुनील कुमार वर्मा और जिला अर्थ संख्या अधिकारी/जिला विकास अधिकारी डा0राम प्रकाश सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारियों के साथ जिले में सड़क निर्माण कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए कार्य गुणवत्तापूर्ण ढ़ग से सम्पन्न कराने के निर्देश दिये। 
बैठक के बाद पत्रकारों से बात-चीत के दौरान कोठी औसानेश्वर हैदरगढ़ मार्ग की खराब हालत की जानकारी होने पर कैबिनेट मंत्री ने निर्देश दिया कि जिलाधिकारी तकनीकी समिति गठित कर इस सड़क की जॉच कराये और जॉच रिपोर्ट 15 दिन के अन्दर शासन को भेजे। उन्होने बड़ेल से लखनऊ फैजाबाद रोड के बाईपास तक माइनर के किनारे बनी सड़क की खराब हालत के संज्ञान में आने पर इसके बारे में भी रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया। 
सिद्धौर देवीगंज सुबेहा रोड के निरीक्षण में मिली खामियों पर अवर अभियन्ता अविनाश चन्द्र शुक्ला, गंगा प्रसाद श्रीवास्तव, बैजनाथ गुप्ता, भानु प्रताप श्रीवास्तव, शफीक अहमद के साथ ही सहायक अभियन्ता टीएन राय को आरोप पत्र जारी करने के निर्देश दिये गये है। 963.52 लाख रुपये की लागत से लगभग 12 किमी लम्बी इस सड़क को अप्रैल के अन्त तक अनिवार्य रूप से पूरा कराने के निर्देश मंत्री द्वारा दिये गये। उन्होने कहा कि निर्माण कार्य में आयी कमियों को भी अप्रैल के अन्त तक दूर करा दिया जाये। निरीक्षण के दौरान मंत्री जी ने पाया था कि सड़क की पटरियों पर मानक से परे काम हुआ। सोल्डर की कुटाई सही ढ़ग से नहीं हुई, जिस पर कैबिनेट मंत्री ने नाराजगी व्यक्त की। 
देवीगंज सुबेहा मार्ग से धनौली वाया गैरिया तक बनी सड़क के निर्माण में गुणवत्ता सम्बन्धी कोई कमी प्रकाश में नहीं आयी। यह सड़क 1400 मीटर लम्बी पिछले साल फरवरी में बनायी गयी है। इसी तरह हैदरगढ़ वाया गाल्हामऊ सतरिख रोड 5.6 किमी पिछले साल मई में बनायी गयी है। इन पर अनुरक्षण कार्य कराया जा रहा है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ठेकेदार द्वारा 5 साल तक अनुरक्षण कार्य कराया जाना अनिवार्य होता है। 
मंत्री जी के निरीक्षण के दौरान प्रमुख सचिव उत्तर प्रदेश शासन सुरेश चन्द्रा, विधायक सतीश शर्मा, उपजिलाधिकारी रामसनेहीघाट राहुल यादव, ग्रामीण अभियत्रंण विभाग के निदेशक उमाशंकर और मुख्य अभियन्ता श्रीगंगवार एडिशनल एस पी कुवंर ज्ञानंजय सिंह ,sdm सुनील वर्मा ,CO संतोष सिंह उपस्थित रहे। 

News Posted on: 09-04-2017
वीडियो न्यूज़