कहा कि देखा गया है कि वक्फ की जमीन पर कब्जा करने के पाप में कई राज्यों के वक्फ बोर्डों के जिम्मेदार लोग भी शामिल हैं। वक्फ संपत्तियों के विकास और समाज के हितों में इनके उपयोग के रास्ते में ऐसे लोग कई तरह के रोड़े डालते हैं।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने आगे कहा कि कुछ वक्फ बोर्डों में गंभीर गड़बड़ियों के मामले भी सामने आए हैं जिनकी उच्चस्तरीय जांच चल रही है और जांच पूरी होने पर इन मामलों में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अल्पसंख्यक मंत्रालय अल्पसंख्यकों के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण के संकल्प के साथ एक मिशन के रूप में काम कर रहा है। अल्पसंख्यक मंत्रालय की सभी कल्याणकारी योजनाओं का असर जमीन पर साफ दिख रहा है।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के सशक्तिकरण के लिए किए जा रहे कार्यों में वक्फ संपत्तियों का मुस्लिम समुदाय के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण के लिए इस्तेमाल किया जाना मुख्य रूप से शामिल है। उन्होंने कहा, मुझे खुशी है कई राज्य सरकारें एवं वक्फ बोर्ड इस मामलें में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं।
नकवी ने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी वक्फ बोर्ड एवं वक्फ संपत्तियों के रिकॉर्ड डिजिटल हो जाए। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय इस सन्दर्भ में राज्य वक्फ बोर्डो को हर संभव मदद दे रहा है।

"/> -->> Tehalka Today <<--

वक्फ बोर्डो में गड़बड़ियों और ज़मीनो पे कब्ज़े से केंद्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी का मूड ख़राब,यूपी का मंत्री आज़म खान परेशान

यूपी की सियासत में वक़्फ़ ज़मीनो को लेकर नया उछाल

नई दिल्ली- वक़्फो को खुर्द बुर्द करने वालो  से केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी का मूड ख़राब हैं।उन्होंने कहा कि वक्फ की आधी से ज्यादा जमीनों पर वक्फ माफियाओं का कब्जा है और कुछ वक्फ बोर्डों में गंभीर गड़बड़ियों के मामले की जांच चल रही है और सरकार इन मामलों में कड़ी कार्रवाई करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी वक्फ बोर्ड एवं वक्फ संपत्तियों के रिकॉर्ड डिजिटल हो जाए।

सूत्रो के मुताबिक मुख़्तार अब्बास नकवी के इस बयान से यूपी के वक़्फ़ मंत्री आज़म खान के चेहरे पर पसीने आ गए हैं,और वो काफी घबराये हुए  हैं।उन्होंने अपने लोगो से ये भी कहा हैं की बीजेपी का ये नया दांव हैं।मालूम हो रामपुर के वक़्फो के मामलो में और शिया सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड का वक़्फ़ खोर चेयरमैन वसीम रिज़वी को इनकी सरपरस्ती जग ज़ाहिर हैं,जिसको लेकर आज़म खान ने आफताबे मिल्लत मौलाना कल्बे जवाद साहब से बदकलामी और रोजेदारों पर लाठिया बरसाकर 1 को मौत के मुहँ में सुला देने में भी गुरेज़ नहीं की थी।जिसको लेकर 2017 विधान सभा चुनाव में मौलाना कल्बे जवाद साहब ने बसपा का समर्थन का एलान किया था।

केंद्रीय वक्फ परिषद की 75वीं बैठक के दौरान नकवी ने कहा कि देखा गया है कि वक्फ की जमीन पर कब्जा करने के पाप में कई राज्यों के वक्फ बोर्डों के जिम्मेदार लोग भी शामिल हैं। वक्फ संपत्तियों के विकास और समाज के हितों में इनके उपयोग के रास्ते में ऐसे लोग कई तरह के रोड़े डालते हैं।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने आगे कहा कि कुछ वक्फ बोर्डों में गंभीर गड़बड़ियों के मामले भी सामने आए हैं जिनकी उच्चस्तरीय जांच चल रही है और जांच पूरी होने पर इन मामलों में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अल्पसंख्यक मंत्रालय अल्पसंख्यकों के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण के संकल्प के साथ एक मिशन के रूप में काम कर रहा है। अल्पसंख्यक मंत्रालय की सभी कल्याणकारी योजनाओं का असर जमीन पर साफ दिख रहा है।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के सशक्तिकरण के लिए किए जा रहे कार्यों में वक्फ संपत्तियों का मुस्लिम समुदाय के सामाजिक-आर्थिक-शैक्षिक सशक्तिकरण के लिए इस्तेमाल किया जाना मुख्य रूप से शामिल है। उन्होंने कहा, मुझे खुशी है कई राज्य सरकारें एवं वक्फ बोर्ड इस मामलें में बहुत अच्छा काम कर रहे हैं।
नकवी ने कहा कि हमारा प्रयास है कि सभी वक्फ बोर्ड एवं वक्फ संपत्तियों के रिकॉर्ड डिजिटल हो जाए। अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय इस सन्दर्भ में राज्य वक्फ बोर्डो को हर संभव मदद दे रहा है।

News Posted on: 28-02-2017
वीडियो न्यूज़