चचा डॉ कल्बे सादिक साहब से इकतेलाफ़ गड़ने वालो पर भतीजे मौलाना कल्बे जवाद का तमाचा,पूर्व सी एम अखिलेश यादव के लिए बन सकता हैं सबक

लखनऊ:एक अख़बार में बेबुनियाद खबर के शाया होने पर अपने रद्दे अमल का इज़हार करते हुए मौलाना कल्बे जवाद नक़वी साहब ने कहा के वालिदे माजिद के इंतेक़ाल के बाद से आज तक मोहतरम डॉ कल्बे सादिक़ साहब हमारे सरपरस्त और हमारे वालिद की जगह पर हैं लेकिन कुछ लोगों से ये मुहब्बत देखी नहीं जाती वो नज़रयाती इख़्तेलाफ़ को घरेलू इख़्तेलाफ़ बना कर पेश करते हैं।

हम सब मुकल्लिद हैं लिहाज़ा मराजे केराम के फतवे को ही बयान कर सकते हैं,मराजे केराम को विलायत हासिल है इसलिए वो हुक्म दे सकते हैं लकिन हुक्मे अव्वली के मुताबिक मस्जिद किसी को नहीं दी जा सकती है क्योंके ये किसी की मिलकियत नहीं है।
सूप्रीम कोर्ट में बेबुनियाद हलफना

आगे पढ़े

दिल्ली में हुआ भारत,बांग्लादेश,पाकिस्तान महासंघ बनाओ सम्मेलन

नई दिल्ली। अगस्त क्रान्ति दिवस पर भारत जोड़ो आन्दोलन चलाया जाना चाहिए। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश को अब अपने वर्तमान स्वरूप में लाने की आवश्यकता है। जब पूरा भारत एक होगा तभी तीनों मुल्कों की तरक्की और खुशहाली का रास्ता खुलेगा। उक्त विचार गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट द्वारा दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित गांधी शान्ति प्रतिष्ठान में आयोजित ‘भारत, पाक, बांग्लादेश महासंघ बनाओ सम्मेलन’ के मुख्य वक्ता इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र के अध्यक्ष रामबहादुर राय ने व्यक्त किए। 
श्री राय ने कहा कि 1965 से समाजवादी नेता राजनाथ शर्मा ने हिन्द पाक महासंघ के सम्मेलनों की निरंतरता के बाद भी कोई सार्

आगे पढ़े

पहली बार नहीं, मुस्लिमों की चिंताओं पर हमेशा मुखर रहे हैं हामिद अंसारी

 

पहली बार नहीं, मुस्लिमों की चिंताओं पर हमेशा मुखर रहे हैं हामिद अंसारी
उपराष्ट्रपति के तौर पर हामिद अंसारी का कार्यकाल पूरा हो गया. मगर, उनकी विदाई विवादों में तब्दील हो गई. हामिद अंसारी ने एक इंटरव्यू में कहा कि देश के मुसलमानों में असुरक्षा का माहौल है. उन्होंने कहा कि देश के मुस्लिमों में बेचैनी का अहसास और असुरक्षा की भावना है. स्वीकार्यता का माहौल खतरे में है.
हामिद अंसारी का ये बयान सामने आते ही उनकी आलोचना शुरू हो गई. एक तरफ नेताओं ने उनके इस विचार विरोध किया, वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर भी उन्हें ट्रोल किया जाने लगा.
सोशल मीडिया पर कहा जाने लगा कि उपराष्ट्रपति पद से हटते ही हामिद अं

आगे पढ़े

मौलाना कल्बे जवाद नकवी साहब को गृह मंत्रालय ने नेशनल फाउंडेशन फॉर कम्युनल हार्मोनी का सदस्य चयनित किया

 

 ।
लखनऊ- ओलमाए हिन्द के महासचिव इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी को आज गृह मंत्रालय द्वारा नेशनल फाउंडेशन फॉर कम्युनल हार्मोनी का सदस्य चुना गया है।
 गृह मंत्रालय द्वारा नेशनल फाउंडेशन फॉर कम्युनल हार्मोनी की ताज़ा जारी सूची में 37 लोगों के नाम शामिल हैं। यह फाउंडेशन सामाज में सदभाव और राष्ट्रीय एकजुटता के लिए काम करने वालों का चयन करता है,वो लोग जो भारत में राष्ट्रीय एकजुटता, एकता, शांति और समाज के कल्याण के लिए बिना किसी भेदभाव और दिखावे के काम करते हैं गृह मंत्रालय ऐसे लोगों को इस फाउंडेशन पर नजर रखने के लिये सदस्य बनाता है,ताकि भारत में अधिक से अधिक शांति,सदभावना,एकता के प्रयास हो

आगे पढ़े

31 अगस्‍त तक आधार को पैन से कर लें लिंक, वरना रद्द होगा आपका PAN कार्ड

नई दिल्ली। अगर आपने अब तक अपना आधार पैन कार्ड से लिंक नहीं किया है तो खबर आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण है। वित्त मंत्रालय ने लोगों को अपना पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक करने का निर्देश दिया है। सरकार ने 31 अगस्त तक पैन को आधार कार्ड से लिंक कराने का निर्देश दिया है। रेवेन्यू सेक्रेटरी हसमुख अढ़िया ने भी साफ कर दिया है कि अगर 31 अगस्त तक पैन कार्ड आधार से लिंक नहीं होता है तो पैन रद्द हो सकता है।
रद्द हो सकता आपका पैन कार्ड
सरकार ने साफ कर दिया है कि आधार को पैन से लिंक नहीं करने पर पैन कार्ड रद्द हो जाएगा। साथ ही साथ ये भी कहा गया है कि बिना आधार को पैन से लिंक किए लोग अपना आयकर रिटर्न नहीं भर सकेंगे। सरकार ने ट&#

आगे पढ़े

'आधार' के नाम पर देशभर में चल रहा लूट का खेल, सरकार बेखबर

नई दिल्ली/लखनऊ-केंद्र सरकार आधार को तमाम सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए जरूरी बना रही है, लेकिन उसका ध्यान आधार से ही जुड़ी उस बड़ी समस्या पर शायद है ही नहीं, जिससे लोगों को रोज दो-चार होना पड़ रहा है। केंद्र सरकार के देशभर में हजारों आधार सेंटर हैं, जो आधार कार्ड बनाने और उन्हें अपडेट कराने का काम करते हैं। केंद्र सरकार की तरफ से स्पष्ट निर्देश हैं कि आधार कार्ड बनवाने की सेवा पूरी तरह निःशुल्क है और आम पब्लिक से इसके एवज में एक भी पैसा नहीं लिया जाएगा। मगर लोगों को इस बात की जानकारी ही नहीं है, जिसका ये एजेंट 'सुविधा शुल्क' वसूलकर धड़ल्ले से फायदा उठा रहे हैं।
हमने सरकार की नाक के नीचे चल रहे इस बड़

आगे पढ़े

जीएसटी (GST) : स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) सेविंग अकाउंट से संबंधित यह नया नियम आपको पता है?

नई दिल्ली: दुनिया के 50 सबसे बड़े बैंकों में से एक और देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने अपने कुछ नियमों और फीस में परिवर्तन किया है. यदि आपका भी SBI में खाता है तो इन नियमों से जल्द से जल्द वाकिफ हो जाएं ताकि किसी प्रकार की दिक्कत न हो. 1 जुलाई से जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) देशभर में लागू हो जाने के बाद बैंकों द्वारा जिन चार्जेस को बढ़ाया गया है उनका भार कुल मिलाकर कस्टमर पर ही पड़ रहा है. यदि सर्विस चार्ज की ही बात करें तो जहां पहले सेवा शुल्क 15 फीसदी हुआ करता था वहीं अब जीएसटी लागू होने के बाद इसकी जगह पर लगा कर यानी जीएसटी 18 फीसदी है. ऐसे में जाहिर तौर पर बैंक कस्टमर को अब सेवाओं के वहन के लिए ज्यादा क&#

आगे पढ़े
वीडियो न्यूज़