इराक़ ने शुरू की तल अफ़ार को पाने की जंग

इराक़ी सेना ने कथित इस्लामिक स्टेट के कब्जे वाले आख़िरी शहर तल अफ़ार को वापस हासिल करने की मुहिम शुरू कर दी है.
इराक़ के प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी ने बीती रात टीवी पर दिए अपने भाषण में कहा कि जेहादियों के सामने सिर्फ़ दो विकल्प हैं सेना के हाथों मरना और आत्मसमर्पण करना.
तल अफ़ार कथित इस्लामिक स्टेट के कब्जे वाला आखिरी शहर है.
इस्लामिक स्टेट के लिए ख़ास है तल अफ़ार
सेना ने मूसल पर कब्ज़ा करने के बाद जुलाई में कथित इस्लामिक स्टेट के गढ़ तल अफ़ार को अपने निशाने पर लिया था. मूसल से 55 किलोमीटर पूरब में स्थित शिया बहुल ये शहर साल 2014 में कथित इस्लामिक स्टेट के हाथों में गया था.
भौगोलिक रूप से तल अफ़ा

आगे पढ़े

क्या अमरीका पर परमाणु हमला कर देगा उत्तर कोरिया?

उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम के कारण संकट ख़तरनाक स्तर पर पहुंच गया है. पिछले चार दशकों से उत्तर कोरिया को समझाने की कोशिश जारी रही कि वह अपने परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम को रद्द कर दे.
ऐसा पहले से ही लग रहा था कि उत्तर कोरिया परमाणु हथियार और मिसाइल क्षमता हासिल करने में लगा है.
इसे जानना अंसभव है कि उत्तर कोरिया के पास वास्तविक क्षमता कितनी है. उत्तर कोरिया दावा करता है कि उसके पास ऐसी मिसाइल है जिसकी जद में अमरीका है. उत्तर कोरिया के हाल के दो परीक्षणों से पश्चिम के देश भी इस बात को मानने लगे हैं कि उसके दावों में सच्चाई है.
जापान की सरकार ने हाल ही में सुरक्षा से जुड़ा श्वेतपत्र ज

आगे पढ़े

कमाने के लिए बेहयाई पर उतरा सऊदी अरब,अय्याशी के लिए लाल सागर पर बना रहा है बिकनी बीच?

 

अब्दुल करीम 
रियाद-सऊदी अरब ने पर्यटन को बढ़ाने के लिए महत्वाकांक्षी विकास योजनाओं का ऐलान किया है.
इनमें लाल सागर पर एक लग़्जरी रिज़ॉर्ट बनाए जाना भी शामिल है.
ट्विटर यूज़र्स ने सऊदी सरकार की इस ख़बर पर प्रतिक्रिया देते हुए कयास लगाए कि क्या टूरिज़्म बढ़ाने के लिए ड्रेस कोड में ढिलाई बरती जाएगी.
एक ट्विटर यूज़र @WaelEssam77 वईल एस्साम कहते हैं, "अब हमें बिकनी पर सऊदी मौलनाओं के फतवों का इंतजार करना चाहिए."
एक अन्य ट्विटर यूजर @nora1373 नोरा कहते हैं, "देश की कमाई में तेल, उमराह और हज़ के अलावा टूरिज़्म का खास योगदान है और सऊदी नागरिकों ने लंबे समय तक ऐसी परियोजना का इंतजार किया है और ये पर्यटन बढ़ाने का अ&

आगे पढ़े

क़तर पर किसी नरमी के मूड में नहीं हैं अरब देश

चारों अरब देशों के विदेश मंत्री बहरीन में रविवार को मिले
क़तर का राजनयिक बहिष्कार करने वाले चार अरब देश अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं और सख़्त बयान देते हुए उन्होंने कहा है कि पड़ोसी देश को उनकी 13 मांगों पर जवाब देना ही होगा.
इन देशों ने कहा है कि इसके बाद ही वे संवाद के लिए राज़ी होंगे.
सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और यूएई ने 5 जून को क़तर पर चरमपंथ को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए संबंध तोड़ लिए थे.
क़तर ने इन आरोपों और पाबंदियां हटाने के लिए अरब देशों की शर्तों को ख़ारिज़ कर दिया था.
इन शर्तों में क़तर के समाचार ब्रॉडकास्टर अल-जज़ीरा को बंद करना और ईरान से संबंधों को कम करना शामिल है.
क़तर संकट आगे क्यì

आगे पढ़े

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने दिया इस्‍तीफा, केंद्रीय मंत्रिमंडल बर्खास्‍त

इस्‍लामाबाद : पाकिस्‍तान सुप्रीम कोर्ट ने पनामा केस में फैसला सुनाते हए नवाज शरीफ को दोषी ठहराया है. पांच जजों की बेंच ने फैसला सुनाते हुए कहा कि नवाज शरीफ के खिलाफ इस मामले में मुकदमा चलाया जाना चाहिए और उनको प्रधानमंत्री पद के अयोग्‍य ठहरा दिया है. इस फैसले के बाद अब नवाज शरीफ पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नहीं रह सकते थे. लिहाजा नवाज शरीफ ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया और केंद्रीय मंत्रिमंडल को बर्खास्‍त कर दिया गया है.
दरअसल इस मामले में नवाज शरीफ समेत उनके परिजनों पर काला धन छुपाने, भ्रष्‍टाचार और मनी लांड्रिंग के आरोप थे. इन मामलों में उनको और परिजनों को दोषी पाया गया है. इससे पहले 21 जुलाई को पाकì

आगे पढ़े
वीडियो न्यूज़